Browse News Archive
e-jagriti5-VolII-2015-7a9d55

E-jagriti

07 April 2015राजभाषा हिन्दी के प्रचार एवं प्रसार की दिशा में मैनेजमेंट की प्रतिबद्धता के अनुसार एक नया कदम उठाते हुए निदेशक (का व प्रशा) कप्तान सिन्हा और निदेशक (एल ऐंड पी एस) श्री जे एन दास के करकमलों से छमाही हिन्दी ई-पत्रिका "ई-जागृति" के प्रवेशांक का लोकार्पण अप्रैल 2013 में किया गया था. तत्पश्चात्, दूसरा अंक दिसंबर 2013 में, तीसरा अंक जुलाई 2014 में तथा चौथा अंक सितंबर 2014 (नाविक दिवस विशेषांक) में जारी किया जा चुका है. इस पत्रिका के अंकों की खास बात यह है कि ये अंक केवल सॉफ्ट कॉपी में ही उपलब्ध रहते हैं यानि कि पेपर और छपाई लागत की बचत. इसके अलावा, इसकी डिजाइनिंग, लेआउट, हिन्दी टाइपसेटिंग आदि के लिए हिन्दी विभाग के पास मौजूद सामान्य संसाधनों का उपयोग किया जाता है यानि कि कोई अतिरिक्त खर्च नहीं करना पड़ता. हमें खुशी है कि मैनेजमेंट के अनुमोदन से इस क्रम में "ई-जागृति" का पाँचवां (वर्ष 2014-15 की तीसरा) अंक तैयार है और इसकी सॉफ्ट कॉपी आपको इस वेबसाइट के माध्यम से प्रेषित की जा रही है. आशा है इस अंक को आप पढ़कर अवश्य सराहेंगे और आगामी अंकों के लिए अपना लेखकीय योगदान अवश्य देंगे ताकि आपके लेखन कौशल से हम सभी परिचित हो सकें.
 
© 2010-11 Shipping Corporation of India. All rights reserved
                   Maintained by Cyfuture India Pvt Ltd.