• Visitors:
  • Shipping Corporation of India
  • |
  • 23 Jun  Shipping Corporation of India
Shipping Corporation of India

बल्क कैरियर

एससीआई वर्तमान में भारत के प्रमुख बल्क कैरियर परिचालक है. इसमें 18 बल्क कैरियर हैं. जिनमें हैंडी, हैंडीमैक्स और पैनामैक्स आकार के जहाज हैं. बेड़े की औसत आयु लगभग 20 वर्ष है लेकिन प्रत्येक जहाज की आयु 9 से 23 वर्षों के बीच है|
 
अधिग्रहण के समय भारत-केंद्रित व्यापार के लिए इन जहाजों की आवश्यकता और उपयोगिता को  सावधानीपूर्वक विचार करने के बाद इनके लिए  आदेश दिया गया था. इन जहाजों से विश्व व्यापी व्यापार में कोई वास्तविक  कठिनाई नहीं हुई है.  ये अनेक प्रकार के कार्गो की ढुलाई करते हैं, जैसे लौह अयस्क, कोयला, कोक, अनाज, खाद, स्टील के उत्पाद, प्लाईवुड, बाक्साइट आदि|
 
ग्राहकों द्वारा समय चार्टर या वाएज चार्टर पर ग्राहकों के कार्गो की ढुलाई करते समय विभाग पर दायित्व के निर्वहन में ग्राहकों की आशाओं को ध्यान में रखा जाता है|
 
सामान्यत: धन इसमें प्रमुख कारक होता है और चार्टरर के लिए लाभ निर्मित करने मे कठिनाई उत्पन्न करने वाली किसी प्रकार की कमी प्रचालक अर्थात एससीआई पर दंड प्रभारित करती हैI
 
इसे कम करने के लिए ;
 
• जहाजों का रख-रखाव और अनुरक्षण, जहाज के कार्मिकों और तटीय कर्मचारियों की ओर से तत्काल और सक्रिय कार्रवाई प्रमुख है|
 
• समय अनुसूची का अनुरक्षण जिसका अनुपालन न होने पर प्रचालक और जहाज के मालिक पर अतिरिक्त लागत पडती है इसलिए इसका अत्यधिक महत्व है. हालांकि इन व्यक्तिगत मदों के लिए उत्तरदायित्व का  स्तर परिवर्तित होगा फिर भी निर्धारित मानक कसौटियों के मूल्यांकन के लिए मानकों का पैमाना संभव है जिसे बनाया जा सकता है.इस दिशा में लक्ष्य निर्धारित करने और उनका कड़ाई से अनुपालन करने की आवश्यकता है|
 
• ग्राहक / बल्क कैरियर सेवाओं के उपयोगकर्ता भी एससीआई से समयबद्ध तरीके से चार्टर पक्षकार / माल वहन करार के अनुसार कार्गो की नामित मात्रा को उठाने के इसके दायित्व को पूरा करने की आशा करते हैं और इसलिए विनिर्दिष्ट दिनों के भीतर टन भार के समुचित संघटन की मांग करते हैं| 
 
• कमी / कार्गो के गुम होने के लिए दावों की घटनाओं को भी यदि पूरी तरह नहीं खत्म किया जा सकता तो इसे कम जरुर किया जा सकता है. डिलिवर किया गया कार्गो प्रदूषित होने या उसके खराब होने से बचाने का ध्यान रखते हुए लदान बिल के विनिर्देशनों के अनुरुप होना चाहिए. सही स्थान पर, सही समय पर, सही मात्रा और गुणवत्ता की डिलिवरी सुरक्षा  मानदंडो का कड़ाई से अनुपालन महत्वपूर्ण है|
 
•ग्राहकों के दृष्टिकोण से एससीआई द्वारा उनके बिलों का तुरंत निपटान जैसे मरम्मत और दलाली बिल भी महत्वपूर्ण है|
 
भारतीय तट पर कार्गो की लदाई और उतराई करते समय बंदरगाह की कुशलता और अन्य बुनियादी सुविधाएं भी उत्पादकता और शिपिंग ग्राहकों के संतुष्टि स्तर पर असर करती हं.  अतएव, शिपिंग श्रंखला में विभिन्न सेतुओं के बीच चार्टर प्राचलों को समायोजित किया जाना चाहिए|