• Visitors:
  • Shipping Corporation of India
  • |
  • 20 Aug  Shipping Corporation of India
Shipping Corporation of India
  • Home
  • /
  • SCI Hindi
  • /
  • investor relations hindi
  • /
  • Policies Hindi
  • /
  • Insider Trading

भेदिया कारोबार

10.09.2009 को परिशोधित
 
भेदिया कारोबार रोकने के लिए एससीआई की आचार संहिता
 
भारतीय नौवहन निगम लिमिटेड (जिसे इसके बाद कंपनी कहा जाएगा) ने श्री दीपांकर हालदार, कंपनी सचिव को अनुपालन अधिकारी नियुक्त किया है जो "मूल्य संवेदनशील सूचना'' के संरक्षण के लिए नियमों के कड़ाई से निगरानी के लिए नीतियों, प्रक्रियाओं के लिए उत्तरदायी होंगे, पदनामित कर्मचारियों के पूर्व क्लियरिंग और उनके निर्भर व्यापार, इस आचार संहिता में अन्यत्र यथा परिभाषित, संबंधित प्रखंड / विभाग प्रमुखों के माध्यम से व्यापार की निगरानी और कंपनी के बोर्ड के समग्र पर्यवेक्षण के भेदिया कारोबार आचार संहिता का क्रियान्वयन किया जाएगा|
 
अनुपालन अधिकारी कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक को रिपोर्ट करेगा|
 
अनुपालन अधिकारी पदनामित कर्मचारियों का रिकार्ड और पदनामित कर्मचारियों की सूची में किए गए किसी परिवर्तन का रिकार्ड अनुरक्षित करेगा|
 
अनुपालन अधिकारी भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (इनसाइडर ट्रेडिंग) प्रतिबंध विनिमावली 1992 और कंपनी की आचार संहिता के संबंध में किसी स्पष्टीकरण को संबोधित करने में सभी कर्मचारियों की सहायता करेगा|
 
पदनामित कर्मचारी
पदनामित कर्मचारियों में निम्नलिखित शामिल हैं:
 
a.अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक सहित सभी निदेशक, सरकारी निदेशकों सहित पूर्णकालिक निदेशक और गैर-कार्यकारी निदेशक

b.  कार्यकारी निदेशक / वरिष्ठ उपाध्यक्ष

c.  वरिष्ठ उपाध्यक्ष

d.  वित्त और लेखा विभाग में कार्यरत सभी कर्मचारी, बोर्ड सचिवालय और आईएस विभाग तथा लाभ केन्द्रों में कार्यरत लेखा कार्मिक
 
e.  लाभ केन्द्रों में अधिकारी बजट और मॉनिटरिंग के परिणाम के बारे मे बताते हैं
 
f. अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक के सचिवालय के सभी कर्मचारी, पूर्ण-कालिक निदेशक और कार्यकारी निदेशक / वरिष्ठ उपाध्यक्ष
 
आश्रित परिवार सदस्य
 
आचार संहिता के अंतर्गत निम्नलिखित आश्रित परिवार सदस्यों का समावेश होता हैं:
 
a. आश्रित माँ-बाप  
 
b. आश्रित बच्चे 
 
c. आश्रित पति या पत्नी  
 
d. पदनामित कर्मचारी के ऊपर आश्रित अन्य व्यक्ति (याँ)
 
"कार्य दिवस''  का अर्थ है ऐसा कार्य दिवस जब स्टाक एक्सचेंज जहां एससीआई की प्रतिभूतियां सूचीबद्ध हों में नियमित व्यापार की अनुमति हो|
 
मूल्य संवेदनशील सूचना का संरक्षण
 
कर्मचारी / निदेशक सभी "मूल्य संवेदनशील सूचना'' की गोपनीयता अनुरक्षित करेंगे. वे ऐसी सूचना किसी व्यक्ति को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रुप से प्रतिभूतियों की खरीद या बिक्री के लिए सिफारिश करके पारित नहीं करेंगे|
 
अप्रकाशित मूल्य संवेदनशील सूचना ``जानने की आवश्यकता'' के आधार पर हैंडल की जाएंगी अर्थात अप्रकाशित मूल्य संवेदनशील सूचना केवल अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, निदेशक (वित्त), वरिष्ठ उपाध्यक्ष (लेखा) लेखा बंद करने का काम करने वाले अधिकारी, निदेशक (वित्त) द्वारा दो अन्य अधिकारयों, बजट एवं नियंत्रण विभाग के पदनामित अधिकारी एवं सांविधिक लेखा परीक्षकों को बतायी जाएगी|
 
किसी भी कर्मचारी द्वारा प्राप्त सभी गैर सार्वजनिक सूचना तत्काल प्रभाग / विभाग प्रमुख को रिपोर्ट की जाएगी|
 
गोपनीय सूचना की सीमित पहुंच
 
गोपनीय सूचना समाविष्ट करने वाली फाइलों को सुरक्षित रखा जाएगा.कंप्यूटर की फाइलों में पर्याप्त सुरक्षा होगी जैसे लागिन पासवर्ड,पासवर्ड सुरक्षित फाइलें आदि|
 
मूल्य संवेदनशील सूचना के दुरुपयोग की रोक-थाम - ट्रेडिंग विंडो  

पदनामित कर्मचारी निम्न व्यापार प्रतिबंधों के अधीन होगा :
 
वित्तीय परिणामों के लिए ट्रेडिंग विंडो का बंद होना और खुलना
 
क.   स्टाक एक्सचेंज को वार्षिक वित्तीय परिणाम (और लाभांश, यदि कोई हो) के घोषित होने के बाद 15 मार्च से 24 घंटे तक
 
ख.   स्टाक एक्सचेंज को प्रथम तिमाही के वित्तीय परिणाम की घोषणा के बाद 15 जून से 24 घंटे तक
 
ग.   स्टाक एक्सचेंज को द्वितीय तिमाही के वित्तीय परिणाम की घोषणा के बाद 15 सितम्बर से 24 घंटे तक
 
घ.   स्टाक एक्सचेंज को तृतीय तिमाही के वित्तीय परिणाम की घोषणा के बाद 15 दिसम्बर से 24 घंटे तक
 
1. अन्य मूल्य संवेदनशील सूचना के लिए ट्रेडिंग विंडो का बंद होना और खुलना
 
 निम्न मामलों में सूचना मूल्य संवेदनशील सूचना मानी जाएगी :
 
क.  लाभांश की घोषणा (अंतरिम एवं अंतिम)
 
ख.  सार्वजनिक / राइट / बोनस आदि के रुप में प्रतिभूतियों का जारी किया जाना
ग.  किसी प्रमुख विस्तार योजना या नई परियोजनाओं का निष्पादन. इस खंड के उद्देश्य के लिए प्रमुख विस्तार योजनाओं का अर्थ होगा डी डब्ल्यू टी में 15 प्रतिशत या उससे अधिक की वृद्धि.
 
घ.  विलय, विलयन, टेकओवर और बाई बैक.
 
ङ. संपूर्ण या पर्याप्त रुप से संपूर्ण अंडरटेकिंग की निपटान
 
च.  कंपनी की नीतियों, योजनाओं या परिचालनों में किसी प्रकार का परिवर्तन
 
उपर्युक्त मामलों में ट्रेडिंग विंडो निदेशक मंडल को संबंधित कार्य सूची मद के परिचालन की तारीख से बंद रहेगी और बोर्ड की बैठक समाप्त होने के 36 घंटे बाद खुलेगी जिसमें ऐसी घटनाओं के बारे में निर्णय लिया जाएगा|
 
जब ट्रेडिंग विंडो बंद हो जाएगी तो पदनामित कर्मचारी उस अवधि में कंपनी की प्रतिभूतियों में व्यापार नहीं करेंगे|
 
ट्रेडिंग विंडो का खुलना और बंद होना समय-समय पर कंपनी के पदनामित कर्मचारियों को सूचित किया जाएगा|
 
ईएसओपी के मामले में जब ट्रेडिंग विंडो बंद हो जाए तो उस अवधि में विकल्प के प्रयोग की अनुमति होगी. हालांकि ईएसपीओ के प्रयोग पर आबंटित शेयरों की बिक्री जब विंडो बंद होगी तब अनुमति नहीं होगी|
 
व्यापार का पूर्व क्लियरेंस
 
कंपनी का पदनामित कर्मचारी और उसके आश्रित परिवार के सदस्य को जो प्रति तिमाही 5 लाख रुपए से अधिक मूल्य सीमा के कंपनी की प्रतिभूतियों या 25,000 शेयरों या 1 प्रतिशत (एक संव्यवहार में या अनेक संव्यवहारों में) जो भी कम हों उसे पहले पूर्व व्यापार प्रक्रिया के अनुसार संव्यवहारों को पहले क्लियर करना चाहिए अर्थात कंप्लाएंस अधिकारी को प्रतिभूतियों की अनुमानित संख्या इंगित करते हुए जो पदनामित कर्मचारी संव्यवहार करना चाहे के बारे में आवेदन करना होगा (जिस रुप में आवेदन किया जाएगा वह कंपनी द्वारा अधिसूचित किया जाएगा) इसका विवरण भी देना होगा कि किसी डिपाजिटरी के पास उसका प्रतिभूति लेखा है. विवरण जिसमें उस डिपाजिटरी में प्रतिभूतियां हों और इस संबंध में कंपनी द्वारा बनाए गए नियमों की अपेक्षा के अनुसार कोई अन्य विवरण. आवेदन के साथ एक बचननामा संलग्न होगा जो ऐसे पदनामित कर्मचारी द्वारा कंपनी के पक्ष में निष्पादित होगा (बचननामे का प्रपत्र कंपनी द्वारा अधिसूचित किया जाएगा) जिसमें अन्य बातों के साथ-साथ यथा प्रयोज्य निम्न खंड शामिल होंगे :
 
क.  यह कि बचननामा के हस्ताक्षर के समय तक पदनामित कर्मचारी के पास कोई मूल्य संवेदी सूचना नहीं पहंुचती है या नहीं प्राप्त होती है 
 
ख.  कि बचननामा पर हस्ताक्षर के बाद पदनामित कर्मचारी को मूल्य संवेदनशील सूचना पहुंचती है या प्राप्त होती है लेकिन संव्यवहार के निष्पादन के पहले वह अपनी स्थिति में परिवर्तन के बारे में अनुपालन अधिकारी को सूचित करेगा और वह पूरी तरह से जब तक ऐसी सूचना सार्वजनिक नहीं हो जाती कंपनी की प्रतिभूतियों में संव्यवहार से दूर रहेगा
 
ग.   यह कि वह कंपनी द्वारा समय-समय पर अधिसूचित इनसाइडर ट्रेडिंग की रोक-थाम के लिए आचार संहिता का उल्लंघन नहीं करेगा / करेगी
 
घ.   यह कि उसने मामले में पूर्ण एवं सही प्रकटन किया है.  
 
अन्य प्रतिबंध
 
सभी पदनामित कर्मचारी और उनके आश्रित परिवार के सदस्य प्री क्लियरेंस अनुमोदन देने के बाद एक सप्ताह के भीतर कंपनी की प्रतिभूतियों के संबंध में अपना क्रम निष्पादित करेंगे. यदि क्रम अनुमोदन देने के पश्चात एक सप्ताह के भीतर निष्पादित न किया गया हो तो पदनामित कर्मचारी फिर से संव्यवहार पहले क्लियर करेगा|
 
सभी पदनामित कर्मचारी और उनके आश्रित परिवार के सदस्य जो कंपनी के कोई शेयर खरीदते या बेचते हैं वे किसी विरोधी संव्यवहार में प्रवेश नहीं करेंगे अर्थात बिक्री या पूर्व संव्यवहार के बाद अगले 6 महीनों के दौरान कोई शेयर न तो बेचेंगे न तो खरीदेंगे. सभी पदनामित कर्मचारी किसी भी समय कंपनी के शेयरों में डेरिवेटिव संव्यवहार में कोई स्थिति भी नहीं लेंगे|
 
प्रारंभिक बाजार में अंशदान के मामले में उपर्युक्त उल्लिखित इंटिटी न्यूनतम 30 दिनों की अवधि के लिए अपना निवेश करेगी. जब प्रतिभूतियां वास्तविक रुप से आबंटित होंगी तो धारिता अवधि प्रारंभ होगी :
 
यदि व्यक्तिगत जरुरतों के लिए प्रतिभूतियों की बिक्री आवश्यक हो तो अनुपालन अधिकारी इस संबंध में लिखित रुप से कारण बताते हुए धारिता अवधि माफ कर सकता है|
 
प्रकटन
 
प्रारंभिक प्रकटन
 
कोई व्यक्ति (वास्तविक शेयर होल्डर) जो 5 प्रतिशत से अधिक शेयर धारण करता हो या कंपनी का मतदान का अधिकार रखता हो वह  कंपनी को (i) शेयरों के आबंटन की सूचना मिलने के दो कार्य दिवसों के भीतर या (ii) शेयर अधिग्रहण या मतदान का अधिकार मिलने पर जैसी भी स्थिति हो शेयरों की संख्या के बारे में या ऐसा धारक होने पर ऐसे  व्यक्ति द्वारा धारित मतदान के अधिकार के संबंध में कंपनी को प्रकट करेगा|
 
पदनामित कर्मचारी कंपनी को शेयरों की संख्या या धारित मतदान अधिकार और उसके या उसके आश्रित परिवार के सदस्यों द्वारा पदनामित कर्मचारी होने के दो कार्य दिवसों के भीतर डेरिवेटिव में ली गई स्थितियों के बारे में कंपनी को प्रकट करेगा|
 
शेयरों की संख्या के बारे में प्रारंभिक प्रकटन 31.03.2002 तक पदनामित कर्मचारी द्वारा धारित अन्य प्रतिभूतियों के बारे में और परिपत्र की तारीख तक बाद की अवधि के लिए तिमाही वार प्रकटन इसके बाद एक महीनें के भीतर अर्थात 29.10.2002 तक किया जाएगा|
 
सतत प्रकटन 
 
 
कोई व्यक्ति जो 5 प्रतिशत से अधिक शेयर धारित करता हो या कंपनी में मतदान अधिकार रखता हो वह धारित कंपनी के शेयरों की संख्या या मतदान अधिकार के  बारे में कंपनी को प्रकटन करेगा और अपनी शेयर धारिता या मतदान अधिकार में परिवर्तन के बारे में  कंपनी को सूचित करेगा यदि ऐसे परिवर्तन के कारण शेयर धारिता 5 प्रतिशत से घट भी जाती है और ऐसे परिवर्तन से कुल शेयर धारिता के 2 प्रतिशत तक बढ़ती है या पिछले प्रकटन से मतदान का अधिकार बढ़ता है तो कंपनी को सूचित करेगा| 
 
सभी पदनामित कर्मचारी धारित शेयरों की संख्या या मतदान के अधिकार शेयर धारित में परिवर्तन या मतदान के अधिकार के परिवर्तन के बारे में (उनके आश्रित पारिवारिक सदस्यों के मामले सहित) कंपनी को प्रकट करेंगे यदि पिछले प्रकटन से ऐसी शेयर धारित में कोई परिवर्तन हुआ हो और ऐसा परिवर्तन मूल्य में 5 लाख रुपए से अधिक हो या 25,000 शेयर या कुल शेयर धारिता का 1 प्रतिशत हो या मतदान अधिकार का 1 प्रतिशत हो, जो भी कम हो के बारे में कंपनी को प्रकटन करेंगे|
 
कंपनी को (i) शेयरों के आबंटन की सूचना मिलने या (ii) शेयरों के अधिग्रहण या बिक्री या मतदान के अधिकार, जैसी भी स्थिति हो पर दो कार्य दिवसों के भीतर कंपनी को ऐसा उपर्युक्त सतत प्रकटन किया जाएगा|
 
आवधिक प्रकटन 
 
प्रतिभूतियों में संव्यवहारों की आवधिक रिपोर्टिंग तिमाही आधार पर होंगी जिसमें ऐसे मामले भी शामिल होंगे जिसमें क्लियरेंस भी आवश्यक होता है. संबंधित कर्मचारी पिछले तिमाही के समाप्त होने के 15 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा|
 
 
वार्षिक प्रकटन
 
31 मार्च को यथा धारित शेयरों एवं अन्य प्रतिपूर्तियों का वार्षिक प्रकटन शेयरों एवं अन्य प्रतिभूतियों की खरीद / बिक्री के विवरणों सहित वित्तीय वर्ष के दौरान सभी विवरण हर वित्तीय वर्ष के समाप्त होने से 30 दिनों के भीतर किया जाए|
 
अनुपालन अधिकारी समुचित रुप में दी  गई सभी घोषणाओं का रिकार्ड कम से कम 3 वर्षो की अवधि तक अनुरक्षित करेगा|
 
अनुपालन अधिकारी मासिक आधार पर अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के समक्ष कंपनी के पदनामित कर्मचारियों द्वारा प्रतिभूतियों में संव्यवहार करने के सभी विवरण (शून्य रिपोर्ट सहित, यदि कोई हो) प्रस्तुत करेगा और संलग्न दस्तावेज जो ऐसे व्यक्ति ने पूर्व संव्यवहार प्रक्रिया के अंतर्गत निष्पादित किया हो जैसा कि इस संहिता में उल्लेख किया गया है, भी प्रस्तुत करेगा| 
 
आचार संहिता के उल्लंघन पर दंड
 
कोई कर्मचारी / अधिकारी / निदेशक जो प्रतिभूतियों में व्यापार करता हो या इस आचार संहिता के उल्लंघन में प्रतिभूतियों में व्यापार के लिए कोई सूचना देता हो तो उसके ऊपर दंड लगाया जाएगा और कंपनी द्वारा उस पर समुचित कार्रवाई की जाएगी|
 
कंपनी का कोई कर्मचारी/अधिकारी/निदेशक जो आचार संहिता का उल्लंघन करता हो वह  कंपनी द्वारा अनुशासनिक कार्रवाई के लिए भी उत्तरदायी होगा जिसमें वेतन रोकना, निलंबन, कर्मचारी स्टाक विकल्प योजनाओं आदि में भावी प्रतिभागिता की अयोग्यता शामिल है| 
 
भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (इनसाइडर ट्रेडिंग प्रतिबंध) विनियमावली 1992, के उल्लंघन के मामले में कर्मचारी के विरुद्ध कंपनी द्वारा की गई कार्रवाई सेबी को जैसा उचित समझे किसी कार्रवाई से नहीं रोकेगी|
 
बोर्ड के आदेशानुसार
एस. हाजरा
अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक
दिनांक : 10-09-2009
स्थान : मुंबई